Software Engineer kaise bane – सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने से संबंधित पूरी जानकारी

Last updated on November 9th, 2023 at 11:33 pm

दोस्तों अगर आप जानना चाहते हैं कि Software Engineer kaise bane तो इस आर्टिकल को लास्ट तक जरूर पढ़िए क्योंकि इस आर्टिकल में आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने से संबंधित पूरी जानकारी मिलेगी।

आज का युग टेक्नोलॉजी का युग बनता जा रहा है जैसे-जैसे तकनीकी बढ़ रही है वैसे वैसे लोगों में कंप्यूटर ,लैपटॉप तथा मोबाइल फोन को लेकर जागरूकता बढ़ी है।

कंप्यूटर तथा लैपटॉप में प्रयोग होने वाले सॉफ्टवेयर्स, तथा स्मार्टफोंस में प्रयोग होने वाले

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर्स के डिजाइन तथा निर्माण में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

Table of Contents

Software Engineer kaise bane – सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए क्या करना पड़ता है?

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए कंप्यूटर  साइंस इंजीनियरिंग या इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी से संबंधित कोर्स करना पड़ता है।

इनमें से कुछ कोर्सेज आप दसवीं कक्षा पास करने के बाद कर सकते हैं और कुछ  कोर्सेज आप 12वीं कक्षा पास करने के बाद ही कर सकते हैं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में डिटेल से बताया और सिखाया जाता है। 

दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स कंप्लीट करने के बाद आपको इंटर्नशिप करनी होती है

जिससे आपको अधिक से अधिक नॉलेज मिल सके।

अगर आप एक अच्छा जॉब पाना चाहते हैं तो आप इंटर्नशिप के दौरान खूब मेहनत कीजिए और अपनी कम्युनिकेशन स्किल स्ट्रांग कीजिए

और कंपनी में इंटरव्यू के लिए अच्छे तरीके से तैयारी कीजिए इसके लिए आप इंग्लिश लैंग्वेज पर अच्छी पकड़ बनाइए।

आप जिस कंपनी में जॉब पाने के लिए इंटरव्यू देने जा रहे हैं तो आप इंटरव्यू देने जाने से पहले आप उस कंपनी के बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त करने का प्रयास कीजिए

क्योंकि कंपनी इंटरव्यू में यह भी क्वेश्चन अक्सर पूछा जाता है कि “आप कंपनी के बारे में क्या जानते हैं?

इसलिए इंटरव्यू देने से पहले आपको अच्छे तरीके से तैयार हो जाना है जिससे आप वहां पर बेहतरीन प्रदर्शन कर पाए।

दोस्तों Software Engineer kaise bane इससे संबंधित आपको पूरी जानकारी मिलेगी

इसलिए इस आर्टिकल को लास्ट तक जरूर पढ़िए जिससे आपको हर एक अच्छे से क्लियर हो जाए।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर किसे कहते हैं

एक ऐसा व्यक्ति जो कि कंप्यूटर प्रोग्रामिंग का अच्छा नॉलेज ( कोडिंग स्किल्स ) रखता है तथा सॉफ्टवेयर्स, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर्स का डिजाइन या निर्माण करता है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर ( Software Engineer ) कहलाता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर का क्या काम होता है – Software Engineer ka kya kam hota hai

यह सवाल अधिकतर स्टूडेंट्स का होता है कि  Software Engineer ka kya kam hota hai ? आइए हम आपको बताते हैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स के काम 

सॉफ्टवेयर्स का डिजाइन करना
सॉफ्टवेयर्स को डेवलप करना
मोबाइल एप्स यानि कि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का डिजाइन तथा डेवलपमेंट करना।


प्रोग्रामिंग से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण कार्य करना
इसके अलावा सॉफ्टवेयर इंजीनियर,

कंपनी की आवश्यकताओं के अनुसार काम करते हैं यानि कि कंपनी जैसा आर्डर करती है

उसी के अनुसार सॉफ्टवेयर इंजीनियर काम करते हैं।

Software Engineering Course ( सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स )

दोस्तों Software Engineering Course के नाम नीचे बताए गए हैं आप ध्यान से पढ़ लीजिए।

B.Tech/B.E in Computer Science and Engineering (4 Years)
BTech/B.E in Information Technology (4 Years)
BCA – Bachelor of Computer Application (3 Years)
Diploma in Computer Science and Engineering (2 to 3 Years)
Diploma in Information Technology (2 to 3 Years)
BSc in Computer Science (3 Years)
BSc in Information Technology (3 Years)
M.Tech/M.E in CSE/IT (2 Years)
M.Sc in Computer Science/Information Technology (2 Years)
MCA – Master of Computer Application
(2 Years)

दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए कई सारे कोर्स होते हैं

और अलग-अलग कोर्स करने के लिए अलग-अलग योग्यता होनी चाहिए

इसलिए Software Engineer banne ke liye kya yogyata honi chahiye

इसके बारे में प्रत्येक कोर्स के लिए बताया गया है।

आप ध्यान से पढ़िए

Software Engineer banne ke liye kya yogyata honi chahiye – सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए योग्यता

डिप्लोमा कोर्स करने के लिए आप को कम से कम 10 वीं या 12वीं (Science PCM) पास होना चाहिए।


इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री कोर्स जैसे कि B.Tech/B.E करने के लिए आपको कम से कम 12वीं (Science PCM) पास होना जरूरी है।


बीसीए कोर्स करने के लिए आपको गणित सब्जेक्ट के साथ 12 वीं पास होना चाहिए तथा इसके अलावा कुछ कॉलेज बिना गणित वाले छात्रों को भी बीसीए में एडमिशन देते हैं।


कंप्यूटर साइंस या इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में बीएससी करने के लिए साइंस स्ट्रीम में PCM/PCB से 12 वीं पास होना जरूरी है।


अगर आप कंप्यूटर साइंस या आईटी में बीटेक/बीई कंप्लीट कर लेते हैं तब आप मास्टर डिग्री कोर्स जैसे कि एमटेक यानि कि मास्टर आफ टेक्नोलॉजी/मास्टर ऑफ इंजीनियरिंग कर सकते हैं।


अगर आप बीसीए कोर्स कर लेते हैं तब आप एमसीए के लिए अप्लाई कर सकते हैं।


• अगर आप कंप्यूटर साइंस या आईटी में बीएससी कर लेते हैं तब आप एमएससी (M.Sc) कर सकते हैं।

• इसके अलावा आपको प्रोग्रामिंग सीखने में इंटरेस्ट होना चाहिए। नया सोचने तथा सीखने की इच्छा होनी चाहिए।

दोस्तों Software Engineer kaise bane इससे संबंधित आपको पूरी जानकारी मिलेगी

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन कैसे होता हैSoftware Engineering me Admission kaise hota hai

दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम

यानि कि प्रवेश परीक्षा के आधार पर होता है।

अगर आप डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लेना चाहेंगे तो उसके लिए आपको सबसे पहले एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होगा और अगर आप बैचलर डिग्री कोर्स

जैसे कि B.Tech/B.E, BSc तथा BCA में एडमिशन लेना चाहेंगे तो इनके लिए भी सबसे पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होगा तब आपको एडमिशन मिलेगा।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन के लिए राष्ट्रीय स्तर की तथा राज्य स्तरीय इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाएं यानि कि एंट्रेंस एग्जाम्स कराये जाते हैं।

National level Engineering Entrance Exams (राष्ट्रीय स्तर की इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाएं)

JEE Main ( Joint Entrance Exam Main )
IIT JEE Advanced ( Joint Entrance Exam Advanced )
BITSAT ( Birla Institute of Technology and Science Admission Test )

State Level Engineering Entrance Exams ( राज्य स्तरीय इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाएं )

अलग-अलग राज्यों में बैचलर डिग्री कोर्स

(BTech/BE) में प्रवेश के लिए कराए जाने वाली प्रवेश परीक्षाओं के नाम दिए गए हैं –

UPCET Assam CEE
Bihar CET CG PET
DU ENGINEERING AP EAMCET
GOA CET GUJCET
WBJEE HP CET
JCECE JNTU EAMCET
KEAM HP CET
MP PET KCET
MHT CET ODISHA JEE/ OJEE
REAP  UKSEE
TRIPURA JEE/TJEE TS EAMCET
Software Engineer kaise bane

Software Engineer kaise bane इससे संबंधित आपको पूरी जानकारी मिलेगी इसलिए इस आर्टिकल को लास्ट तक जरूर पढ़िए जिससे आपको हर एक अच्छे से क्लियर हो जाए।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने में कितना पैसा लगता है – Software engineer banne mein kitna paisa lagta hai

दोस्तों Software engineer banne mein kitna paisa lagta hai

यहां पर हमारा मतलब सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग फीस से है। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स की फीस अलग-अलग कॉलेजों में अलग-अलग होती है।

• पॉलिटेक्निक संस्थानों में कंप्यूटर साइंस/आईटी डिप्लोमा की फीस लगभग 12500 से 35000 रूपए प्रति वर्ष होती है।

• भारत के प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थानों जैसे कि IITs , IIITs तथा NITs में बीटेक कोर्स की फीस 100000 से 120000 रूपए प्रति वर्ष होती है।

इसके अलावा स्टेट लेवल इंजीनियरिंग कॉलेजों में इसकी फीस लगभग 70 से 80 हजार रुपए प्रति वर्ष की भी होती है।

दोस्तों अगर आप कम फीस में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करना चाहते हैं तो प्रवेश परीक्षा दीजिए और उसमें अच्छी रैंक लाइए जिससे आपको सरकारी कॉलेज/ यूनिवर्सिटी में

एडमिशन मिले क्योंकि सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स की फीस बहुत कम होती है।

बीएससी कंप्यूटर साइंस में कौन-कौन से सब्जेक्ट पढ़ने होते हैं? – आर्टिकल पढ़ें

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग टॉप कॉलेज इन इंडिया

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मद्रास ,चेन्नई
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी , नई दिल्ली
पारूल यूनिवर्सिटी, बड़ोदरा
आईआईटी बॉम्बे , मुंबई
IIT , खड़गपुर
आईआईटी , कानपुर
आईआईटी , रुड़की
बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, पिलानी
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी , गुवाहाटी
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी , हैदराबाद

दोस्तों Software Engineer kaise bane ये तो आप समझ गए होंगे लेकिन यहां पर सवाल ये भी आता है कि Software Engineer banne ke liye 10th ke baad kya kare तो आइए सारी चीजें Step by Step जानते हैं

10th ke baad Software Engineer kaise bane – सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए 10वीं के बाद क्या करें

10वीं के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा या 11th-12th की पढ़ाई कंप्लीट करें।


इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करें और इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लें।


इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाई पूरी करने के बाद इंटर्नशिप करें।

सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन बनाने की प्रैक्टिस करते रहें।

मुझे उम्मीद है कि Software Engineer kaise bane ये चीज आप समझ गए होंगे

आइए अब हम बात करते हैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी के बारे में

दोस्तों Software Engineer ki salary kitni hoti hai ये समझने के लिए आपको यह भी समझना होगा कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी किन कारकों पर निर्भर करती है-

सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी इस चीज पर निर्भर करती है कि आपने सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग किस कॉलेज से की है,

आपकी स्किल्स और नॉलेज तथा आपको किस कंपनी में जॉब मिला है? तो ये कारक हैं जिनके आधार पर आप को सैलरी मिलती है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी कितनी होती हैSoftware Engineer ki Salary kitni hoti hai

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के बाद शुरुआती सैलरी लगभग 10 से 15, 18, 20 हजार रूपए प्रति माह तक की होती है। एक्सपीरियंस बढ़ने के बाद सैलरी बढ़ती है।

अगर आप किसी सामान्य इंजीनियरिंग कॉलेज से बीटेक/बीई कंप्लीट करते हैं तो शुरुआती सैलरी लगभग 10 से 25 हजार रूपए प्रतिमाह की हो सकती हैं तथा 2 से 3 साल का वर्क एक्सपीरियंस होने के बाद

सैलरी 35 से 40,50 हजार रूपए प्रतिमाह भी हो सकती है। एक्सपीरियंस बढ़ने के बाद सैलरी और भी बढ़ सकती हैं।

आईआईटी (IIT) जैसे टॉप इंजीनियरिंग संस्थानों से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग करने के बाद 10 लाख से 1.5 करोड़ रुपए तक का सैलरी पैकेज मिलता है।

अधिकतर उम्मीदवारों का 10 से 15 लाख के बीच का सैलरी पैकेज लगता है।

सैलरी पैकेज का मतलब साल भर में मिलने वाली सैलरी और सुविधाओं से हैं।

टॉप इंजीनियरिंग संस्थानों से ग्रेजुएट हुए कुछ उम्मीदवारों का सैलरी पैकेज 20‌ लाख, 50 लाख लाख यहां तक की 1 से 1.5 करोड़ रुपए तक भी चला जाता है।

फाइनली निष्कर्ष यह निकलता है कि अगर आप टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कंप्लीट करते हैं

और हार्ड वर्क करते हैं और किसी अच्छी सॉफ्टवेयर कंपनी में जॉब मिलता है तो एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को अच्छी सैलरी मिलती है।

Software Engineer kaise bane

10वीं के बाद 11वीं और 12वीं की पढ़ाई साइंस मैथ से पूरी करें।

इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें और Form अप्लाई करें

Engineering में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स में एडमिशन लें।

इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करें और इंटर्नशिप पूरी करें।

अगर आप Career ,Courses and Exams से संबंधित महत्वपूर्ण वीडियो देखना चाहते हैं तो आप Right Info Club YouTube Channel पर जाकर देख सकते हैं।

ConclusionSoftware Engineer kaise bane

In Conclusion दोस्तों हमने जाना कि Software Engineer kaise bane और सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी ।

Finally अगर आपका कोई क्वेश्चन है तो आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं । यह जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरूर बताइए। इस आर्टिकल को आप अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते हैं।

Share

18 thoughts on “Software Engineer kaise bane – सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने से संबंधित पूरी जानकारी”

  1. Sir isme kitna scope hai or jo sc caste vale hote unke liye fees me resrvation hota hai kya jinhone 12 me non medical ki hai wo kr skte hai kya

    Reply
  2. Hello Sir,
    Abhi m 10th m hu aur mera dream h software engineer Banna plz aap mujhe btaenge sirf pcm+eng+Hindi se kaunsa course kr sakte h

    Reply
  3. Sir..may ne 10th…Kaya hai…ab.may.soch raha.hu.k.may 12th..karlu..lekin.sir…..may.ek..mobile…….technician.hu……mujhe software Engineer..Banna hai….sir.plz..gide.help

    Reply

Leave a Comment

x